जानिए इस जगह का काला सच , यहाँ पर औरतो के साथ जो होता है वो जानकर आपकी रातो की नींद उड़ जाएगी !!

हर देश के अपने  कायेदे  कानून होते है और रीती रिवाज भी होते है | लेकिन साउथ अफ्रिका में एक ऐसा त्यौहार है जिसमे मासूम लड़कियों का जबरदस्ती खतना कराया जाता है | त्यौहार के नाम पर यहाँ अन्धविश्वास फैलाया जा रहा है वो भी किसी की  जान के साथ खेलकर | जो ये शर्मनाक हरकत है ये आपको आपके उपर शक करने पर मजबूर कर देगी की क्या सही में आप २२ वि सदी में है या नही | इस प्रथा में बहुत ही गलत होता है ये अन्धविश्वास है और कुछ नही है | इससे लोगों की मानसिकता शुन्य नज़र आती है | इनके सिर्फ भगवान को मानाने के लिए ये लोग मासूम औरतो के साथ गलत करते है | इसको प्रथा बोले या जुर्म समझ नही आता इसमें दूध पीती बच्ची की औरते पकडती है और उसका खतना करती है | बच्ची की चीखे निकलती है और बच्ची खून में सन जाती है जो की काफी दर्दनाक दृश्य होता है | अगर वो बेटी किसी अमीर घराने में पैदा होती है तो वो बहुत खुशनसीब होती है क्यों की अमीर लोग पैसे खर्च करके बेहोशी का इंजेक्शन लगवा लेते है जिससे होता ये है की खतना करते वक़्त ज्यादा दर्द नही होता |
[xyz-ihs snippet=”Link-Res”]
यहाँ पर छोटी सी बच्ची की योनी को ही काट के डिब्बे में फैंका जाता है , और ये सिर्फ निर्दय लोग ही  कर पाते है | आस पास का एरिया जहाँ से काटा जाता है वो भी जख्मी हो जाता है | इस प्रथा के चलते कई छोटी बच्चियों की दर्द के चलते मृतु हो जाती है | लड़कियों का खतना किया जाता है क्यों की वहां के लीडर और बड़े बुजुर्गो का मानना है की ऐसा करने से लड़कियां कभी भी गलत हरकत नही करेंगी यानी अपने पार्टनर के साथ वफादारी करेगी क्यों की उनमे खतना करने से दर बैठ जाता है | आपको बतादे खतना एक नुकीली ब्लेड से करा जाता है | खतना करने के बाद अगर गलती से भी घाव नही भरता तो इन्फेक्शन फैलने का डर भी रहता है | मौत की संख्या निरंतर बढती जा रही है जिसके चलते वहां की लोकल गवर्नमेंट ने इसको बंद ही करवा दिया यानी खतना करना अब वहां इलिगन माना जाता है |

Leave a Reply