जानिए कैसे बनती है इंडियन देशी बियर , जानकर होश उड़ जायेंगे !!

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा पि जाने वाली चीज़ जो कि बियर है उसके बारे में बताएँगे , पहले दो नंबर पर चाय-कॉफ़ी आ जाती है | अगर हम इसको पीते है तो हमें इसके बारे में पता होना आवश्यक है आज हम आपको शराब कैसे बनती है , बियर में अक्सर लिखा होता है लिगर बियर , या वो किससे बनी है उसकी सामाग्र्ही उन तमाम चीजों के बारे में हम आपको आज बताएँगे | तो चलिए शुरू करते है दोस्तों सबसे पहले आपको बतादे जो बियर का आविष्कार हुआ था वो egypt में हुआ था एक दवाई के तोर पर लेकिन आगे चलकर इसे नशे के रूप में स्वीकारा गया | तो अब हम अब जानते है ये बनती कैसे है बियर दरअसल चार चीजों से मिलकर बनती है पहली है वाटर यानि पानी ,दूसरी मोलतेड बर्ली , होप्स और यीस्ट से , बल्कि पांचवे की बात करे तो वो भी है अद्जुक्ट्स से जो की सामाग्र्ही में काउंट नही होता लेकिन अस्तित्व रखता है | लेकिन अब इनका काम क्या होता है वो भी हम आपको बताएँगे पानी की मात्रा बियर में सबसे ज्यादा होती है , बल्कि अल्कोहल तो सबसे कम मात्रा में होता है | लेकिन ये पानी आम नही होता बल्कि इसके अंदर 6 अलग – अलग तरह के साल्ट होते है | मोलतेड बर्ली ये बहुत जरूरी होता है ये बियर को कलर देता है अगर रोस्टेड मोलतेड बर्ली हो तो बात ही क्या ये बेहतरीन कलर देगा | फिर आता है होप्स जो की अंकुरित है जो की हमुलुस भी कहलाता है ये फ्लेवर बताता है अगर ये ज्यादा हुआ तो आपका स्वाद ख़राब हो जायेगा ये एक फ्लावर है | यीस्ट ये बियर को लम्बे समय तक सही रखने के काम आता है अगर हम यीस्ट को चीनी घुलेवे गिलास में डालेंगे तो ये फर्मेंटेशन शुरू करदेगा | चावल इसको अद्जुक्ट्स भी कहते है ये दरअसल बियर को बैलेंस करता है वैसे तो कहा जाता है किताबों में की सिर्फ मोलतेड बर्ली से ही बियर बनती है लेकिन बहुत कम लोग जानते है की अगर 65% मोलतेड बर्ली है तो 35 % अद्जुक्ट्स होगा | ये बहुत ही जरुरी है इससे हमें बियर पीने के बाद नशा नही होता |

आपको बतादे बियर या शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है हम आपको ये पीने की सलाह नही देते |

Leave a Reply