ये विदेशी नहीं भारतीय लोकेशंस हैं जनाब

अगर आपको विदेशी लोकेशंस पसंद हैं। वहां की हरियाली के कायल हैं। शांत और खूबसूरत वादियों को कैमरे में कैद करने के शौकीन हैं तो विदेश जाने की जरूरत नहीं है। भारत में ऐसी कई लोकेशंस हैं जो आपको फॉरेन टूर का अहसास कराएंगी। साथ ही आपको खर्चा भी बचाएंगी। जानिए कहां है ये वादियां…

1.अलेप्पी (केरल)
चारों तरफ हरियाली, पानी पर तैरती बोट और शांत वातावरण के बीच अगर आपको रहने की तमन्ना है तो अलेप्पी आपके लिए एकदम सही डेस्टिनेशन है। यह आपको विदेशी लोकेशंस का अहसास कराएगा। यह स्थान बोटिंग के लिए मशहूर है। इसके अलावा यहां के बीच, मंदिर, और चर्च भी देखने योग्य हैं। यहां रेल, फलाइट्स और सड़क तीनों मार्ग से पहुंचा जा सकता है। कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट यहां से महज ७९ किलोमीटर है। टे्रन से यहां वाया कोचीन, त्रिवेंदम पहुंचा जा सकता है।

Image Source

2. शिलॉन्ग, मेघालय
इसे भारत का स्कॉटलैंड भी कहा जाता है। चारों तरफ पहाड़ और हरियाली से भरा यह क्षेत्र विदेशियों की पसंदीदा टॉप टेन लिस्ट में रहता है। इसके अलावा यहां मौजूद एलिफेंट फॉल्स, लेडी हैदरी पार्क, वाड्र्स लेक, गोल्फ कोर्स, शिलॉन्ग पीक खास दर्शनीय स्थल हैं। म्यूजियम के शौकीनों के लिए भी यह प्लेस खास है। यहां फॉरेस्ट म्यूजियम, राइनो हैरिटेज म्यूजियम, जूलोजिकल म्यूजियम, बोटेनिकल म्यूजियम के अलावा एयरफोर्स म्यूकजियम भी है। यहां पहुंचने के लिए गुवाहटी रेलवे स्टेशन पर पहुंचें। स्टेशन से यह १०४ किलोमीटर दूर स्थित है। जहां जाने के लिए बसें आसानी से मिल जाती हैं। इसके अलावा फ्लाइट सेवा भी मौजूद है।

Image Source

3. अंडमान-निकोबार द्वीप
अक्सर कपल्स शादी के बाद हनीमून के लिए किसी आईलैंड की खोज में रहते हैं। जहां शोर न हो और चारों तरफ मन को सुकून देने वाली लोकेशन हो। इसके लिए वे अक्सर विदेश जाने का टूर प्लान बनाते हैं लेकिन भारत में अंडमान और निकोबार ऐसा आईलैंड है जो आपको फॉरेन लोकेशन का अहसास कराएगा। इसके अलावा यहां मिनी जू, वांडूर बीच, फॉरेस्ट म्यूजियम, रॉस और वाइपस आइसलैंड के अलावा राधनगर बीच, नील आइसलैंड है, जो आपकी यात्रा को यादगार बना देगा। यहां की राजधानी पोर्ट ब्लेयर कोलकाता और चेन्नई से हवाई यात्रा करके पहुंचा जा सकता है।

Image Source

4. चित्रकूट फॉल, छत्तीसगढ़
सैकड़ों फीट ऊंचाई से गिरता झरना और पहाड़ आपको अमरीका के नियाग्रा वाटर फाल की याद दिला देगा। गर्मी के मौसम में यहां की सुंदरता आपको ताजगी का अहसास कराएगी। छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में स्थित यह फाल भारत के सबसे चौड़े झरने में शुमार है। इसकी ऊंचाई २९ मीटर है। बरसात में बारिश के बाद इसकी भव्यता देखते ही बनती है। इस कारण इसे भारत का नियाग्रा फॉल भी कहा जाता है। यहां सड़क मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है। यह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से २७३ किमी की दूरी पर स्थित है।

Image Source

5. उत्तराखंड
फूलों की वैली कहा जाने वाला उत्तराखंड नैचुरल ब्यूटी के लिए जाना जाता है। यहां के हिल स्टेशन आपको विदेश की वादियों की याद दिला देंगे। साथ ही चार धाम यात्रा के एक पड़ाव बदी्रनाथ का पुण्य भी प्राप्त कर सकते हैं। मसूरी, केदारनाथ, बद्रीनाथ, हरिद्वार, नैनीताल, देहरादून, ऋषिकेश की झीलें और वादियां आपको यहां की तस्वीरों को कैमरे में कैद करने के लिए मजबूर कर देंगी। साथ ही फूलों की अलग-अलग किस्मों को देखकर आपका मन प्रसन्न हो जाएगा।

Image Source

Save

Leave a Reply