फ्री लॉन्सिंग में इन बातों का रखें ध्यान

भारत में फ्री लॉन्सिंग का स्कोप तेजी से बढ़ रहा है। बड़े मीडिया संस्थान से लेकर डाटा एजेंसी तक फ्री-लॉन्सिंग को कारोबार का हिस्सा बना रहे हैं। एक फी-लॉन्सर को काम में परफेक्शन के साथ तथ्यों को सावधानीपूर्वक एसाइमेंट में शामिल करना चाहिए। समय पर डिलीवर और प्रोफेशनलिज्म बेहद जरूरी हैं। साथ ही कुछ बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है। जानिए किन बातों का ध्यान रखें और क्या न करें…

यह करें
१. इंटरनेट से लैस कम्प्यूटर का होना बेहद जरूरी है। जो २४/७ काम कर सके।
२. लेट नाइट जॉब के लिए तैयार रहें। कुछ क्लाइंट्स अचानक देर शाम तक एसाइनमेंट देने के बाद सुबह तक उसे पूरा करने की डिमांड कर सकते हैं। इसलिए तैयार रहें।
३. अपना एक ब्लॉग बनाएं ताकि जरूरत पडऩे पर क्लाइंट आपकी स्किल को ब्लॉग पर चेक कर सके।
४. ब्लॉग में अपने काम के लिए अलावा अपना अनुभव और खास लेखन से जुड़ी खास फील्ड्स का जिक्र करना न भूलें।
५. क्लाइंट से बात करते समय कूल रहें और किसी भी स्थिति में गुस्से पर काबू रखें।
६. किसी भी कंफ्यूजन की स्थिति को क्लाइंट से तुरंत स्पष्ट करें।
७. किसी भी विषय पर गलत तथ्यों की जानकारी न दें।
८. असाइनमेंट को प्राथमिकता के आधार पर बांट लें, ताकि सही समय पर डिलीवर कर सकें।
९. नई आइडियाज को क्लाइंट के साथ शेयर करें।
१०. हर बार असाइनमेंट में कुछ नया करने की कोशिश करें।

यह न करें
१. अगर कोई कंपनी आपको फ्री-लॉन्सिंग की जाब देने के लिए पैसे की डिमांड करती हैं तो राशि कभी न दें।
२. इसके अलावा कभी क्रेडिट कार्ड या पिनकोड की मांग की जाए तो अलर्ट हो जाएं और दूरी बनाएं।
३. इसके अलावा ऐसी कंपनी से जुडऩे से पहले दोस्तों स भी राय लेना न भूलें।
४. शुरुआत में अधिक वर्क लोड वाली जॉब न करें। क्षमता के अनुसार काम करें, ताकि असाइनमेंट समय पर डिलीवर कर सकें।
५. पेमेंट के मामले में सावधान रहें। इसमें लापरवाही न बरतें।
६. कभी भी किसी बै्रंड के बारे में नकारात्मक बातें न फैलाएं।
७. काम को लेकर कभी भी स्ट्रेट न लें, इससे काम प्रभावित होगा।
८. बहुत अधिक काम करने के लिए चक्कर में मनोरोगी न बनें। जितना काम करें, मन लगाकर करें।
९. गलतियों से बचें। इससे आपकी गलत इमेज बनती है।
१०. काम के अनुसार एक्सपर्ट का पैनल बनाएं ताकि सही जानकारी आप डिलीवर कर सकें।

Save

Leave a Reply