बीजेपी का साथ क्योँ छोड़ा शिव सेना , जाने पूरी ख़बर !!

काफी लम्बे अरसे से ख़बर आ रही है की भारतीय जनता पार्टी अकेली ही २०१९ का चुनाव लड़ेगी क्यों की नेशनल डिफेन्स अकादमी की मेम्बर शिव सेना ने उसका  साथ देने के लिए मना जार दिया है | शिव सेना ने एक मीटिंग में ये बात तय करी है | २०१९ में शिव सेना खुद भी चुनाव लड़ेगी वो भी अकेले बीजेपी के साथ नही | जिस बैठक में ये सब तय हुआ वो मंगलवार को तडके हुई थी | पार्टी की राष्ट्रीय कमेटी में ये बात पेश की गयी थी | मीटिंग में सनाक्ल्प लिया गया की 10 राज्यों में शिवसेना सत्ता लाएगी | जबकि बीजेपी और सेना काफी लम्बे अरसे से दोस्त है | सूत्र बताते है की दोनों पार्टियाँ एक दुसरे के विपक्ष में होंगी जिसके कारण दोनों में तनाव भी आ सकता है |
[xyz-ihs snippet=”Link-Res”]
दोनों पार्टियों का तालमेल बहुत पुराना है | लेकिन कुछ चीजों के चलते शिव सेना बीजेपी के उपर ही नाग बनीवी है ख़ास तोर पर जब हम बात करे महाराष्ट्र की तो | दोनों एक दुसरे को  निचा दिखाना चाहती है | अभी तक पता नही लग पाया है की सेना केंद्र और मुंबई से निकलेगी या नही | आदित्य ठाकुर जो की जाने माने व्यक्ति है उनको पार्टी का अहम नेता चुना गया ताकि वे शिव सेना के हित्त में अच्छे फैसले , कायदे कानून बना सके | मीटिंग दरअसल नेता का चयन करने के लिए रखी गयी थी | इसमें लोगों ने भाजपा का साथ छोड़ने का प्रस्ताव रखा जिसे लोगों ने मान लिया , और पार्टी ने अहम फैलसा लेते हुए ऐलान कर दिया की वो २०१९ का चुनाव् अकेली लड़ेगी | पार्टी के नेता ने कहा की हमें संकल्प लेना होगा की हम सत्ता में तो आयेंगे ही साथ में ही , भाजपा जो कर रही है उसका विरोध भी करेंगे , यानी जाती सम्प्रयेदाए पे बात नही आनी देंगे | देवेन्द्र  जो की मुंबई के मुख्यमंत्री है उन्होंने चुनाव करवाने का संकेत तो दिया है हो सकता है की इसी वर्ष में चुनाव हो जाए | आपको बतादे जब शिव सेना ने इस बात की घोषणा करी की वो अकेले चुनाव लड़ेगी तब तक बीजेपी के किसी भी आदमी को इसकी ख़बर नही थी | लेकिन ख़बर आने के बाद बीजेपी के बड़े बड़े नेता भोचके रह गये |

Leave a Reply