पांच बॉलीवुड फिल्में जो बच्चों के लिए नहीं

बॉलीवुड में कई फिल्में ऐसी बनाई गई है जिसमें टीनएजर्स में मन में उठते सेक्स के प्रति लगाव को दर्शाया गया है। उनमें सेक्स के प्रति बढ़ते लगाव, उसे पार करने की हद और परिणामों को दिखाया गया है। हालांकि ऐसी फिल्मों को ‘एÓ गे्रड दिया गया है। लेकिन यू-ट्यूब पर आसानी से उपलब्ध होने के कारण १८ वर्ष के कम उम्र में बच्चों को इनसे दूर रखें। जानिए कौन सी हैं ये फिल्में…

१. छोटी सी लव स्टोरी : २००२ में आई शशिलाल नायर द्वारा निर्देशित फिल्म छोटी सी लव स्टोरी हॉलीवुड फिल्म ‘शॉट स्टोरी अबाऊट लवÓ का हिन्दी वर्जन थी। जिसमें १४ साल का एक बच्चे को २६ वर्ष की महिला से प्यार हो जाता है। उसे बार देखने के लिए परेशान रहता है। वह दिन-रात उससे मिलने के बारे में सोचता रहता है। फिल्म में महिला का किरदार अभिनेत्री मनीषा कोईराला ने निभाया था। इस फिल्म में काफी बोल्ड सीन होने के कारण पूरे देश में इसकी रिलीज के खिलाफ प्रदर्शन भी हुए थे।

२. बीए पास : चक दे इंडिया फेम शिल्पा शुक्ला और अभिनेता शादाब कमल अभिनीत यह फिल्म २०१३ में रिलीज हुई थी। इसमें एक शादीशुदा औरत का एक युवक के प्रति प्रेम दिखाया गया है। फिल्म में जबरदस्त बोल्ड सीन और बेहतरीन एक्टिंग के कारण इसे आलोचकों ने काफी सराहा था। छोटे बजट की फिल्म होने के कारण इसने औसत व्यावसाय किया था।

resource

३. आस्था : बासु भट्टाचार्य द्वारा निर्देशित फिल्म आस्था १९९७ में रिलीज हुई थी। इसमें मुख्य भूमिका में रेखा थीं। रेखा ने ऐसी महिला का किरदार निभाया था जो जीवन के हर ऐशोआराम के लिए पैसा कमाना चाहती है। इसमें लिए वह देहव्यापार में उतर जाती है। उसे किस तरह का जीवन जीना पड़ता है सबकुछ पाने के लिए यह इस फिल्म में दर्शाया गया है। देहव्यापार से जुड़ी होने के कारण फिल्म में कई बोल्ड दृश्य भी हैं।

source

४. मस्तराम : एक काल्पनिक लेखक मस्तराम के नाम पर बनी इस फिल्म में युवाओं का काफी ध्यान आकर्षित किया। इसके ट्रेलर से लेकर गानों तक में बोल्ड शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। इसमें एक सेक्स से जुड़ी साहित्य लिखने वाले लेखक की संघर्ष की कहानी है। जो सोसायटी के एक खास तबके की हकीकत को बयां करती है। फिल्म में मुख्य रूप में अभिनेता राहुल बग्घा और अभिनेत्री तारा अलीशा शामिल हैं। अक्सर युवा जिस लेखक की किताबों को चोरी-चोरी चुपके-चुपके पढ़ते हैं और कॉलेज तक ले जाकर दोस्तों के बीच कहानियां शेयर करते हैं। उसी लेखक को फिल्म में दिखाया गया है। साथ ही यह लेखक काफी महिलाओं के साथ सम्बंध रखने के लिए जाना जाता है। औसत बजट की फिल्म को कलेक्शन सामान्य मिला था।

. नशा : २०१३ में पूनम पांडे द्वारा अभिनीत फिल्म नशा में भी युवाओं को उनकी उम्र से बड़ी महिला के प्रति झुकाव को दिखाया गया है। फिल्म की कहानी एक कॉलेज की है। जिससे हीरो को अपनी ही प्रोफेसर से प्यार हो जाता है। धीरे-धीरे ये एक बड़ी समस्या बन जाती है। फिल्म में आज के जमाने की कहानी को कहा गया है। कैसे यंगस्टर्स अपने लक्ष्य से भटकते हैं और फिर ये समस्या विकराल रूप लेती चली जाती है। पैरेंट्स का प्रेशर और सेक्स के प्रति लगाव के कारण मन के भटकाव को बेहद सहज तरीके से दिखा गया है। पूनम पांडे ने भी बेहतर अभिनय करने की पूरी कोशिश की है। हालांकि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी थी।

source

Leave a Reply